हेडलाइंस
J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित...पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार

और बिगड़ सकते हैं भारत-तुर्की के रिश्ते, एर्दोगन के रवैये से भारत नाराज, कर सकता है रिश्तों की समीक्षा

इस्लामिक राष्ट्रों के बीच एक नए गठबंधन बनने की वजह से ही तुर्की पिछले वर्ष से कश्मीर के मुद्दे को ज्यादा हवा देने लगा है।

नई दिल्ली। तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र की सालाना महासभा को संबोधित करते हुए जिस तरह से कश्मीर के मुद्दे को हवा दी है उससे भारत के साथ उसके द्विपक्षीय रिश्ते को बड़ा झटका लगना तय है। भारत ने वैसे तो आधिकारिक तौर पर एर्दोगन के बयान को खारिज कर दिया है और उसे साफ तौर पर अपने घरेलू मुद्दों पर ध्यान देने की सलाह दे डाली है लेकिन बात यहीं तक सीमित नहीं रहेगी। कश्मीर को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाने के मुद्दे पर तुर्की लगातार पाकिस्तान के सुर में सुर मिला रहा है। ऐसे में भारत, तुर्की के साथ अपने द्विपक्षीय रिश्ते की पूरी तरह से समीक्षा करने को बाध्य हो सकता है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत टी एस त्रिमूर्ति ने कहा है कि, ‘तुर्की के राष्ट्रपति का भाषण भारत के आंतरिक मामलों का घोर उल्लंघन है। तुर्की को दूसरे देशों की संप्रभुता का आदर करना चाहिए और इस संबंध में अपनी नीति पर विचार करना चाहिए।’

आधिकारिक तौर पर भारत का यह बयान बेहद संतुलित है लेकिन विदेश मंत्रालय में यह भावना बन रही है कि तुर्की के राष्ट्रपति की तरफ से हर मंच पर कश्मीर मुद्दे को उठाने की आदत को अब ज्यादा गंभीरता से लेने की जरूरत है। फरवरी, 2020 में पाकिस्तान यात्रा के दौरान भी एर्दोगन ने कश्मीर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उसके पहले सितंबर, 2019 में भी संयुक्त राष्ट्र में भाषण देते हुए कश्मीर का मुद्दा उन्‍होंने उठाया था। तब भी भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए नई दिल्ली स्थित तुर्की के राजदूत को डेमार्श जारी किया गया था। इसके पहले जब एर्दोगन ने कश्मीर का मुद्दा उठाया था तब तुर्की जाने वाले पर्यटकों के लिए एडवायजरी जारी की गई थी।

सूत्रों का कहना है कि इस्लामिक राष्ट्रों के बीच एक नए गठबंधन बनने की वजह से ही तुर्की पिछले वर्ष से कश्मीर के मुद्दे को ज्यादा हवा देने लगा है। पिछले वर्ष पाकिस्तान और तुर्की को मलेशिया का भी साथ मिल रहा था। लेकिन मलेशिया को अपने तरीके से साध लिया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई में भारत के रिश्ते सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों के साथ बेहद मजबूत हुए हैं। जबकि तुर्की के रिश्ते इन देशों के साथ कई वजहों से बिगड़ रहे हैं। तुर्की और पाकिस्तान मिल कर इस्लामिक देशों में सऊदी अरब की नेता सरीखी भूमिका को चुनौती देना चाहते हैं। यही वजह है कि तुर्की पाकिस्तान के हितों के अनुकूल बातें कर रहा है।

J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली     |     सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित…पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल     |     बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर     |     गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088