हेडलाइंस
J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित...पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार

भारत में यहां पर है अजगरों की सबसे बड़ी दुनिया, देखकर हैरान रह जाएंगे आप

इस गांव का नाम भी इन्हीं अजगरों से पड़ा है। जहां हर साल सैकड़ों पर्यटक भी पहुंचते है।

मंडला: ये अजगरों की बस्ती हैं, ये अजगरों का गांव हैं। यहां आराम फरमाने के लिए आते हैं सैंकड़ों अजगर, पढ़ने में भले ही ये बातें अजीब लग रही हों। लेकिन यह सच है। दरअसल मध्यप्रदेश के मंडला जिले के इस पथरीले इलाके में हर साल जाड़े के दिनों में एक दो नहीं बल्कि सैकड़ों अजगर अपने बिलों से बाहर निकल आते हैं। लगभग 200 हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में पत्थर और मिटटी के बने छेदों से निकलते अजगर आम ग्रामीणों के अलावा पर्यटकों को आकर्षित करते हैं।

जानकार बताते हैं। कि ठंड के दिनों में जब तापमान नीचे चला जाता है। तो इन सैकड़ों अजगरों को अपने शारीरिक तापमान को संतुलन बनाये रखने के लिये बाहर आना पडता है, और लंबे समय के लिये ये बाहर गरम पत्थरों में ये धूप सेंकते देखे जा सकते हैं। वन विभाग ने इनके संरक्षण के लिये इलाके में फेंसिंग तो कराई है। लेकिन अजगरों की सुरक्षा के लिये ये नाकाम साबित हो रही है।

ग्रामीणों का मानना है कि इस गांव का नाम भी इन्हीं अजगरों से पड़ा है। जहां हर साल सैकड़ों पर्यटक भी पहुंचते है। यहां पर्यटन की द्रष्टि से कोई कार्य अब तक नहीं किया गया है। जबकि यह इलाका कान्हा से लगा हुआ है। यहां रैनबसेरा, पेयजल व्यवस्था और सड़क का अभाव तो है ही, साथ ही अजगरों की सुरक्षा भी नहीं है।

कान्हा नेशनल पार्क में इन दिनों पर्यटकों की भारी भीड़ है। नवंबर-दिसंबर के महीने में अवकाश के कारण यहां पर्यटकों का आना जाना रहता है। यदि अजगर दादर पर शासन प्रशासन ध्यान देते हैं। तो यह एक बेहतर पर्यटन केंद्र की तरह विकसित हो सकता है। पिछले कई वर्षों से इस छेत्र को अभ्यारण बनाने की कवायद जारी हैं। लेकिन अब तक वन विभाग आश्वासन मात्र दे रहा है। अब देखना यह होगा, कि आखिर कब अजगरों के इस गांव की दशा बदलती है।

J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली     |     सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित…पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल     |     बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर     |     गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088