हेडलाइंस
J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित...पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार

महाकाल मंदिर में सुरक्षा इंतजाम होंगे पुख्ता, तैयार हो रहा एक्शन प्लान

एसपी ने तलब की सभी जानकारियां, कलेक्टर सीआइएसएफ को लिख चुके हैं पत्र। परिसर से पकड़ा गया था गैंगस्टर विकास दुबे।

उज्जैन। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था और पुख्ता करने के लिए स्थानीय पुलिस और प्रशासन नया एक्शन प्लान तैयार कर रहा है। मंदिर परिसर सहित आसपास कई निर्माण कार्य चल रहे हैं। भविष्य की व्यवस्थाओं को देखते हुए सुरक्षा इंतजामों में बड़े फेरबदल की तैयारी है। बीते सप्ताह एसपी सत्येंद्र शुक्ल ने मंंदिर की सुरक्षा से जुड़ी सभी जानकारियां तलब की थीं, वहीं कलेक्टर आशीष सिंह केंद्रीय औद्योगिक सुरक्ष बल (सीआइएसएफ) को पत्र लिख चुके हैं। अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही नई सुरक्षा व्यवस्था का खाका तैयार कर इसे लागू किया जा रहा है।

बता दें कि मंदिर की वर्तमान सुरक्षा व्यवस्था स्थानीय पुलिस, होमगार्ड और निजी सुरक्षा कंपनी देखती है। कुछ वर्षों से मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ी है। इसे देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ाने की मांग उठती रही है। 9 जुलाई को उत्तर प्रदेश के गैंगस्टर विकास दुबे को महाकाल मंदिर परिसर से पकड़े जाने के बाद कलेक्टर आशीष सिंह ने मंदिर का सिक्यूरिटी ऑडिट करने के लिए सीआइएसएफ को पत्र लिखा था। सीआइएसएफ ने भी इसमें रुचि दिखाते हुए पत्र भेजा था। सीआइएसएफ ने पत्र के माध्यम से स्थानीय प्रशासन से कई जानकारियां मांगी थी। इसमें से कई जानकारियां भेजी जा चुकी हैं। आगे की प्रक्रिया जारी है

अभी सुरक्षा के यह इंतजाम

-मंदिर परिक्षेत्र में करीब 180 कैमरों से चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाती है।

-सुरक्षा व्यवस्था में एसएएफ, पुलिस, होमगार्ड व निजी सुरक्षा कंपनी के गार्ड तैनात रहते हैं।

-मंदिर के मुख्य द्वार के समीप पुलिस है। यहां से सुरक्षा व्यवस्था का संचालन होता है।

-होमगार्ड के प्लाटून कंमाडर की निगरानी में निजी कंपनी के गार्ड सुरक्षा व्यवस्था संभालते हैं।

-कंट्रोल रूप में बैठे अधिकारी संपूर्ण व्यवस्था पर निगरानी रखते हैं।

इन द्वारों से मंदिर में प्रवेश

-सामान्य दर्शनार्थी गेट नं. 1 से फैसिलिटी सेंटर, टनल के रास्ते मंदिर में प्रवेश करते हैं।

-250 रुपए के शीघ्र दर्शन टिकट वाले दर्शनार्थियों को शंख द्वार से मंदिर में प्रवेश दिया जाता है।

-वीआइपी श्रद्धालुओं का प्रवेश भस्मारती गेट से प्रोटोकॉल व्यवस्था के तहत होता है।

-वीवीआइपी दर्शनार्थी महाकाल धर्मशाला के रास्ते महाकाल प्रवचन हॉल के समीप से मंदिर में प्रवेश करते हैं।

यह खामियां भी

-मंदिर में बैग स्कैनर सालों से बंद पड़े हैं। बिना सुरक्षा जांच के दर्शनार्थीं बैग, झोला आदि भीतर तक ले जाते हैं।

-प्रवेश द्वारों पर तैनात सुरक्षाकर्मियों के पास हेंड मेटल डिटेक्टर नहीं हैं। ऐसे में मंदिर में प्रवेश से पहले भक्तों की साधारण जांच की जाती है।

-मंदिर के भीतर मोबाइल प्रतिबंधित है, लेकिन श्रद्धालु बेरोकटोक मोबाइल लेकर भीतर जाते हैं।

-मंदिर में बैग, झोला, नारियल, अस्त्र शास्त्र आदि पर प्रतिबंध है, लेकिन प्रभावी रोक नहीं होने से आए दिन प्रतिबंधित वस्तुएं भीतर तक जाती हैं।

-कंट्रोल रूम की व्यवस्था बीते कुछ समय से मंदिर कर्मचारी व निजी कंपनी के गार्ड के जिम्मे हैं। सुरक्षा की दृष्टि से यहां किसी अधिकारी की ड्यूटी आवश्यक है।

नए एक्शन प्लान में यह होगा

– सीआइएसएफ अथवा कोई अन्य एजेंसी मंदिर का सिक्यूरिटी ऑडिट करेगी। इसके माध्यम से मंदिर की मौजूद सुरक्षा व्यवस्था, खामियां और जरूरतों संबंधी एक रिपोर्ट तैयार होगी।

-रिपोर्ट के आधार पर प्रशासन कदम उठाएगा और सुरक्षा व्यवस्था के लिए इंतजाम किए जाएंगे।

-मंदिर के विभिन्ना पॉइंटों पर जरूरत के अनुसार सुरक्षाकर्मी बढ़ाए जाएंगे।

-हाइटेक सुरक्षा व्यवस्था के लिए विशेषज्ञों से राय ली जाएगी।

-स्थानीय पुलिस भी मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के लिए योजना पर काम कर रही है।

बड़े पर्व पर आते हैं 1.50 लाख श्रद्धालु

महाकाल मंदिर में इन दिनों रोजाना 8 से 10 हजार श्रद्धालु दर्शन के लिए आ रहे हैं। कोरोनाकाल से पूर्व यह संख्या 13 से 15 हजार के बीच थी। शिवरात्रि, नागपंचमी आदि पर्वों पर 1 से 1.5 लाख श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं।

प्रक्रिया जारी

महाकाल मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। सीआइएसफ को भी पत्र लिखा गया है। आगे की प्रक्रिया भी जारी है। जल्द ही पूरी योजना तैयार इसे लागू किया जाएगा।

-आशीष सिंह, कलेक्टर एवं अध्यक्ष महाकाल मंदिर प्रबंध समिति, उज्जैन

J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली     |     सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित…पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल     |     बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर     |     गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088