SMTV India
Local & National Breaking News

90% आरएसएस शाखाएँ हुई फिर प्रारम्भ

4

भोपाल। कोरोनाकाल में संघ की 90 फीसद शाखाएं बंद हो गई थीं, जो जुलाई 2020 से फिर प्रारंभ हो गईं। इस संकट के दौरान स्वयंसेवकों ने 92,656 सेवा स्थानों पर 73.81 लाख परिवारों तक राशन के किट पहुंचाए। 89.23 लाख मास्क बांटे और 59.91 लाख आयुर्वेदिक काढ़ा बांटा। पुणे में कोविड सेंटर का संचालन किया गया, जहां 1,600 मरीज ठीक हुए। दो हजार गांवों में बीस हजार कोरोना योद्धा का सम्मान किया गया।

यह जानकारी मध्यभारत प्रांत के संघचालक अशोक पांडे ने दी। विश्व संवाद केंद्र में आयोजित पत्रकारवार्ता में उन्होंने बताया कि कोरोना के कारण पिछले वर्ष मार्च से जून तक प्रत्यक्ष शाखाएं नहीं लगीं लेकिन संघकार्य चलता रहा। आज लगभग शाखा में काम पूर्व की स्थिति में आ गया है। मार्च 2020 में 38, 913 स्थानों पर 62,477 शाखाएं एवं लगभग 29 हजार साप्ताहिक मिलन चल रहे थे।

मार्च 2021 में 34,569 स्थानों पर 55,652 शाखाएं और लगभग 26 हजार साप्ताहिक मिलन प्रारंभ हो चुके हैं। कोरोनाकाल में स्वयंसेवकों ने देशभर में सेवाभारती के माध्यम से 92, 656 स्थानों पर सेवा कार्य किए, जिसमें 5.60 हजार से अधिक कार्यकर्ता सक्रिय रहे। नगरीय क्षेत्रों साथ ही गांवों में भी संघ के कार्य का विस्तार हुआ है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र के आव्हान पर स्वयंसेवकों ने निधि समर्पण का अभियान चलाया।

देशभर में 5,45,737 स्थानों पर 12.47 करोड़ परिवारों से संपर्क किया गया। मध्यभारत प्रांत में 97 प्रतिशत नगरों के मोहल्ले और गांवों में 88 प्रतिशत से अधिक परिवारों तक कार्यकर्ताओं ने संपर्क किया। कोरोना से छोटे बधाों की शिक्षा प्रभावित न हो इसके लिए प्रांत में 2,044 स्थानों पर 15 हजार से अधिक स्वयंसेवकों ने अभिनव प्रकल्प बालगोकुलम का संचालन किया।

SMTV India