SMTV India
Local & National Breaking News

गरीब, पैदल, बाइक वालों का काटा जा रहा चालान, कार वालों को खुली छूट, मास्क कार्रवाई में भेदभाव, सवालों के घेरे में प्रशासन

इस अजीब नियम पर सवाल किया गया कि कौन सा नियम है कि कार वालों को जाने दो पैदल और बाईक वालों को आने दो

45

छतरपुर: मुस्कुराइये आप छतरपुर में हैं.. अगर आप कार चालक और रसूखदार हैं तब तो चिंता की कोई बात ही नहीं क्योंकि यहां आप पर कोरोना गाइडलाइन और सरकार के जारी आदेशों, नियम और कानून के उल्लंघन करने की खुली छूट दी जायेगी। हैरान हो गये न आप तो जानिए इसकी वज़ह…

दरअसल, छतरपुर में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए प्रदेश और जिला प्रशासन ने सख्त नियम और आदेश तो जारी कर दिए हैं जिसका मैदानी असर भी दिखने लगा है। जहां एक ओर अब लोगों को मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है तो वहीं चौराहों पर खड़े होकर पुलिस, प्रशासन, और नगरपालिका की टीम मास्क न लगाने वालों की चालानी कार्यवाही कर रही है।

लेकिन यह क्या छतरपुर के छत्रसाल चौराहे पर SDM, CSP, CMO और उनके अधीनस्थ कर्मचारी मास्क न लगाने वाले गरीब और पैदल लोगों और बाईक सवारों को सड़कों पर पकड़-पकड़कर उनके चालान तो कर रहे हैं। लेकिन कार सवार और रसूखदार लोगों को बिना रोके टोके जाने दिए जा रहा है। उन्हें बिना मास्क लगाने के बावजूद रोका और टोका नहीं जा रहा है। नेता, पुलिस, डॉक्टर, अधिकारी, और रसूखदार आसानी से सरेआम निकलने दिया जाता है और कोई कुछ भी कहता, रोकता, टोकता नजर नहीं आ रहा।

मामले में नगर पालिका सीएमओ ओमपाल सिंह भदौरिया और एसडीएम यूसी मेहरा का कहना है कि उन्होंने साफ तौर पर कहा कि अभी पैदल चलने वाले और बाईक वालों का चालान कर रहे हैं। कार वालों को सिर्फ समझाइश दे रहे हैं।

इस अजीब नियम पर सवाल किया गया कि कौन सा नियम है कि कार वालों को जाने दो पैदल और बाईक वालों को आने दो वह अपने ही जवाब में फंस गए और यू टर्न लेते हुए कहा कि आप क़ार वालों को पकड़कर लाओ तो हम उनका भी चालान कर देते हैं।

SMTV India