SMTV India
Local & National Breaking News

कंगना पर महाराष्ट्र के मंत्री का विवादित बयान, कहा- किसी नाचनेवाली को क्या जवाब दें

महाराष्‍ट्र के मंत्री विजय नामदेव वडेट्टीवार ने फिल्‍म अभि‍नेत्री कंगना रनौत पर विवादित बयान दिया है।

4

महाराष्‍ट्र के मंत्री विजय नामदेव वडेट्टीवार ने फिल्‍म अभि‍नेत्री कंगना रनौत पर विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने महात्‍मा गांधी को लेकर कंगना के बयान पर बोला है कि किसी नाचनेवाली को क्‍या जवाब दें। आपको बतां दें कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने मंगलवार को एक नए विवाद को जन्म देते हुए दावा किया कि सुभाष चंद्र बोस और भगत सिंह को महात्मा गांधी से कोई समर्थन नहीं मिला। उन्होंने महात्मा गांधी के अहिंसा के मंत्र का मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि दूसरा गाल आगे करने से ‘भीख’ मिलती है न कि आज़ादी।

कंगना के बयान पर नया घमासान शुरू
वहीं अभिनेत्री कंगना रनौत के महात्मा गांधी और सुभाष चंद्र बोस को लेकर दिए बयान को लेकर नेताजी की बेटी अनिता बोस ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। अनिता बोस ने कहा कि उनके पिता और महात्मा गांधी के रिश्ते बेहद जटिल थे क्योंकि गांधीजी को लगता था कि वह नेताजी को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, वहीं दूसरी तरफ मेरे पिताजी गांधी के बड़े प्रशंसक थे। उन्होंने कहा कि नेताजी और गांधी महान नायक थे जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी। एक के बिना दूसरा नहीं हो सकता था। यह एक गठजोड़ था। ऐसा नहीं है कि कांग्रेस के कुछ सदस्यों ने लंबे समय तक यह दावा करने की कोशिश की कि केवल एक अहिंसक नीति ही भारत की स्वतंत्रता के लिए जिम्मेदार थी। हम सभी जानते हैं कि नेताजी और आईएनए (इंडियन नेशनल आर्मी) की कार्रवाइयों ने भी भारत की आजादी में योगदान दिया।

पहले भी दिया था विवादित बयान
रनौत ने पिछले हफ्ते कहा था कि 1947 में भारत को आज़ादी नहीं, बल्कि ‘भीख’ मिली थी, असली स्वतंत्रता 2014 में मिली जब नरेंद्र मोदी की सरकार सत्ता में आई। रनौत ने ‘इंस्ट्राग्राम’ पर एक के बाद एक कई पोस्ट कर महात्मा गांधी को निशाना बनाया और कहा कि ‘अपने नायकों को समझदारी से चुनो।” अभिनेत्री ने एक अखबार की पुरानी कतरन साझा की है जिसकी सुर्खी है, “गांधी, अन्य नेताजी को सौंपने के लिए सहमत हुए थे।”

SMTV India