हेडलाइंस
J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित...पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार

Coronavirus : कोरोना मरीज के इलाज में निजी अस्पताल को अनुमति लेने का बंधन समाप्त

कोविड मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते निजी व सरकारी अस्पतालों के बेड लगभग फुल हो चले हैं।

ग्वालियर। निजी अस्पतालों में अब कोरोना मरीजों का इलाज देने के लिए सरकारी अनुमति नहीं लेनी होगी। अभी तक निजी अस्पतालों को मुख्य चिकित्सा अधिकारी से तय शर्तो के आधार पर अनुमति लेनी होती थी। लेकिन अब अलग से ऐसी कोई अनुमति नहीं लेनी होगी ऐसे निजी अस्पताल जहां पर इलाज की सभी सुविधाएं हैं वह कोरोना मरीजों का इलाज दे सकेंगे। मध्य प्रदेश स्वास्थ्य आयुक्त ने ग्वलियर सहित प्रदेश के सभी कलेक्टर व सीएमएचओ को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। लेकिन ऐसे मरीज जिनकी रिपोर्ट निगेटिव और सिटी स्कैन की जांच में संक्रमण बताया जा रहा है। उन मरीजों को इलाज लेने में परेशानी आ रही है।

कोरोना की रोकथाम के लिए उठाया कदम

कोविड मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते निजी व सरकारी अस्पतालों के बेड लगभग फुल हो चले हैं। ऐसे में संक्रमित मरीज को भर्ती होने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस आदेश के बाद से सभी निजी अस्पताल इलाज दे सकेंगे और मरीज को आसानी से बेड उपलब्ध होंगे,बेड की संख्या भी बढ़ेगी।

कलेक्टर व सीएमएचओ को देनी होगी जानकारी

निजी अस्पताल जिन कोविड मरीजों का इलाज करेंगे उन्हें इसकी सूचना कलेक्टर व सीएमएचओ कार्यालय में देनी होगी। इसके साथ ही मरीज की रिपोर्ट और मरीज की कंडीशन के बारे में बताना होगा।

यह व्यवस्थाएं जरूरी

-कोविड मरीजों को भर्ती करके वही अस्पताल इलाज कर सकेंगे जिनके पास पूरी व्यवस्थाएं होंगी।

-निजी अस्पतालों में इसके लिए कोविड 19 मरीजों को अलग से रखे जाने की व्यवस्थाएं होना आवश्यक।

-अस्पताल में ऑक्सीजन की सही से व्यवस्थाएं हों।

-अस्पताल को गाइड लाइन का पालन करना होगा।

-मरीज से ली जाने वाली शुल्क का बताना होगा।

सिटी स्कैन में लक्षण आने पर कोरोना का दे सकते इलाज

स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि गाइड लाइन में ऐसे मरीज जिनकी रिपोर्ट निगेटिव है पर सिटी स्कैन व अन्य ब्लड जांच में वह कोरोना के लक्षण आ रहे हैं, तो ऐसे मरीजों को कोविड गाइड लाइन के अनुसार ही इलाज दिया जाना चाहिए। हालांकि ऐसे मरीज को रेमडेसिवल व फैवीफ्लू दवा का प्रयोग नहीं किया जा सकता।

– निजी अस्पतालों को अनुमति की जस्र्रत नहीं है वह गाइड लाइन के अनुसार नियत शर्तों पर कोविड मरीज को इलाज दे सकते हैं। मरीज की पूरी जानकारी कलेक्टर व सीएमएचओ को देनी होगी। – डॉ संजय गोयल , आयुक्त स्वास्थ्य विभाग, मप्र

J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली     |     सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित…पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल     |     बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर     |     गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088