ब्रेकिंग
नर्मदापुरम में मां नर्मदा जयंती महोत्सव का छाया उल्लास सीएम शिवराज ने जलमंच से की पूजा-अर्चना मुरैना के पहाड़गढ़ जंगलों में सुखोई और मिराज क्रेश पायलेट उतरे पैराशूट से पीएम मोदी आज जाएंगे भीलवाड़ा गुर्जर समाज के लोक देवता जन्मोत्सव कार्यक्रम में होंगे शामिल सीयू में ध्वजारोहण के साथ शुरू होगी स्वाभिमान थाली 1934 से घमापुर चौक में फैल रही दही बूंदी जलेबी की खुश्बू गफलत में निगम अधिकारी संपत्तिकर नामांकन का ठहराव चेक कराया रतलाम के रावटी स्टेशन के पास लोडिंग वाहन पलटा 21 घायल मध्य प्रदेश के राज्यपाल भोपाल में और सीएम शिवराज जबलपुर में करेंगे ध्वजारोहण मध्य प्रदेश में मंदिरों के 500 मीटर के दायरे से हटेंगी शराब दुकानें राहुल-अथिया को शादी में मिले करोड़ों के गिफ्ट सलमान और कोहली ने भी दिए शानदार तोहफे

भेल दशहरा मैदान पर श्रीराम कथा प्रारंभ जगद्गुरु रामभद्राचार्य 31 जनवरी तक सुनाएंगे

11

भोपाल। राजधानी के भेल दशहरा मैदान पर श्रीराम कथा की शुरुआत कलश यात्रा से हुई। सोमवार को बरखेड़ा स्थित श्रीकृष्ण मंदिर से कलश यात्रा निकली। इसमें पांच सौ महिलाएं सिर पर कलश लेकर चलेंगी। साथ ही ढोल, डीजे की थाप पर नाचते-गाते श्रद्धालु चल समारोह में शामिल हुुए। कलश यात्रा में बाइक रैली में युवाओं की टोली धर्म और अध्यात्म का प्रतीक भगवा ध्वज लेकर साथ चले। जगद्गुरु रामभद्राचार्य महाराज 31 जनवरी तक लोगों को श्रीराम कथा सुनाएंगे। इससे पहले जगदगुरू ने गुफा मंदिर भी गए और वहां पर सभी से मुलाकात करने के बाद अवधपुरी आए और कुछ समय आरााम किया।

ककथा स्थल पर 50 हजार से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था

भोजपाल महोत्सव मेला समिति के अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि कलश यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। कथा स्थल पर 50 हजार से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। जरूरत पड़ने पर पंडाल के आसपास खाली पड़ी जगह पर भी श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था की गई। महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग बैठक व्यवस्था रखी गई है। संयोजक विकास वीरानी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय संत रामभद्राचार्य महाराज की कथा सुनने बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अलग-अलग प्रसाधन, स्नानागार आदि की व्यवस्था की गई है। कथा स्थल पर 50 हजार वाहनों के पार्किंग की व्यवस्था की गई है। पंडाल सहित पूरे मैदान को अध्यात्म के प्रतीक भगवा ध्वज से सजाया गया है। महामंत्री हरीश कुमार राम ने बताया कि नौ दिनों तक चलने वाली श्रीराम कथा के लिए अलग-अलग दिन अलग-अलग तरह की प्रसादी का वितरण किया जाएगा। जगद्गुरु को सुनने भोपाल सहित प्रदेश के अलग-अलग शहरों से लोग आएंगे।

SMTV India