SMTV India
Local & National Breaking News

ममता चोट मामलाः चुनाव आयोग का चला डंडा, पूर्व मेदिनीपुर के डीएम और एसपी हटाए गए

10

 चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी हमला मामले में बड़ा एक्शन लिया है। आयोगने पूर्व मेदिनीपुर के डीएम विभू गोयल को हटा दिया है। इनकी जगह स्मिता पांडेय को जिम्मेदारी दी गई है। इसके अलावा विवेक सहाय को निदेशक और सुरक्षा के पद से हटा दिया है। आयोग ने विवेक सहाय को सस्पेंड कर दिया है। आयोग ने पूर्व मेदिनीपुर के एसपी को भी सस्पेंड कर दिया है।

आयोग ने ममता की चोट को लेकर पुलिस जांच के आदेश दिए हैं और 15 दिन में जांच रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने कहा कि ममता की चोट की रिपोर्ट 31 तक मार्च तक प्रस्तुत करें। गौरतलब है कि नंदीग्राम में ममता बनर्जी रोड शो करते समय घायल हो गईं थी, जिसके बाद चुनाव आयोग ने मुख्य सचिव से रिपोर्ट तलब की थी, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

इससे पहले आयोग ने निर्वाचन आयोग (ईसी) के सूत्रों ने रविवार को कहा कि आयोग ने इस बात को खारिज कर दिया है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कोई हमला हुआ था, जिसके कारण उन्हें चोटें आई थीं। आयोग ने दो विशेष चुनाव पर्यवेक्षकों एवं राज्य सरकार की रिपोर्ट की समीक्षा करने के बाद निष्कर्ष निकाला कि तृणमूल कांग्रेस की नेता बनर्जी को जो चोटें आई हैं, वे उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहे कर्मियों की चूक का परिणाम हैं।

उन्होंने बताया कि बनर्जी एक स्टार प्रचारक होने के बावजूद बुलेट प्रूफ या बख्तरबंद वाहन का इस्तेमाल नहीं कर रही थीं और यह उनकी सुरक्षा के लिए जिम्मेदार लोगों की चूक है। बनर्जी नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान गिर गई थीं और उनके बाएं पैर एवं कमर में चोटें आई थीं। ऐसे आरोप लगाए गए थे कि जब वह बुधवार की शाम को नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर रही थीं, तब अज्ञात लोगों ने उन्हें धक्का दिया था।

वहीं, भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि वह ममता बनर्जी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करे, जिससे यह पता चल सके कि चोट कैसे लगी। दरअसल, ममता बनर्जी ने घायल होने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं पर धक्का देने का आरोप लगाया था, जिसके जवाब में भाजपा ने पलटवार किया था।

SMTV India