हेडलाइंस
Assembly Elections: उत्तर प्रदेश में अकेल चुनाव लड़ेगी जद(यू), गठबंधन पर भाजपा से नहीं मिला कोई जवाब Assembly Elections: भारतीय किसान यूनियन ने SP-RLD गठबंधन को दिया समर्थन, जानें क्या बोले राकेश टिकैत? ग्रेजुएशन पास वालों के लिए यहां निकली हैं बंपर भर्तियां, अप्लाई करने से पहले पढ़ लें यह खबर 5.6 इंच की डिस्प्ले के साथ Apple ला सकती है iPhone SE 3, लीक हुई तस्वीर Gold के प्रति भारतीयों का बढ़ा आकर्षण, 9 महीने में सोने का आयात हुआ दोगुना भ्रष्टाचार मामले को लेकर समझौता याचिका पर बातचीत कर रहे नेतन्याहू विराट कोहली के टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने पर पूर्व बल्लेबाज कैफ ने कही ये बड़ी बात पिंक और ब्लू शरारा सूट में सपना चौधरी ने बिखेरा खूबसूरती का जलवा, कैमरे के सामने झूमकर यूं दिए पोज दूर होगा होंठों के आसपास का कालापन, घर पर यूं बनाएं Beetroot Serum ग्वालियर में जीनोम सीक्वेंसिंग सैंपल की जांच की सुविधा नहीं

Reliance ने बॉन्ड जारी कर विदेश से जुटाए 4 बिलियन डॉलर, ये रही डील की जानकारी

बॉन्ड के लिए एशिया, यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में 200 से अधिक खातों से ऑर्डर रिसीव हुए।

नई दिल्ली । देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने गुरुवार को कहा कि उसने भारत से अब तक के सबसे बड़े विदेशी मुद्रा बांड जारी करके 4 अरब अमेरिकी डॉलर का कर्ज जुटाया है। तेल से लेकर दूरसंचार के क्षेत्र में व्यापार करने वाले समूह ने फॉरेन करेंसी डोमिनेटेड बॉन्ड्स में धन जुटाया और मौजूदा उधारों को खत्म करने के लिए इसका उपयोग करने की योजना बनाई।

फर्म ने 2.875 प्रतिशत की कूपन दर पर 1.5 बिलियन अमरीकी डालर, 3.625 प्रतिशत पर 1.75 बिलियन अमरीकी डालर और 3.75 प्रतिशत पर 750 मिलियन अमरीकी डालर जुटाए। इन्हें 2032 और 2062 के बीच चुकाना है। कंपनी की ओर से बताया गया कि ‘नोट्स की कीमत संबंधित यूएस ट्रेजरी बेंचमार्क से 120 बेसिस प्वाइंट, 160 बेसिस प्वाइंट और 170 बेसिस प्वाइंट पर रखी गई है।

नोट्स को S&P द्वारा BBB+ और मूडीज द्वारा Baa2 रेटिंग दी गई है। कंपनी की ओर से प्रेस रिलीज जारी करके कहा गया कि यह लेन-देन विभिन्न मामलों में महत्वपूर्ण है। यह भारत की ओर से अब तक का सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा बांड जारी किया गया। इसके अलावा किसी भारतीय कॉरपोरेट द्वारा 3 चरणों में से प्रत्येक में संबंधित यूएस ट्रेजरी में फैला हुआ अब तक का सबसे सख्त निहित क्रेडिट है।

बॉन्ड के लिए एशिया, यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में 200 से अधिक खातों से ऑर्डर रिसीव हुए। एशिया में 53 फीसदी, यूरोप में 14 फीसदी और अमेरिका में 33 फीसदी बॉन्ड डिस्ट्रीब्यूट किए गए है। इन हाई क्वालिटी फिक्स्ड इनकम अकाउंट में डिस्ट्रीब्यूट किया गया है। इनमें से 69% फंड मैनेजर्स को, 24% इंश्योरेंस कंपनियों को, 5% बैंकों को और 2% पब्लिक इंस्टीट्यूशनंस को दिए गए है।

आरआईएल (RIL) के संयुक्त मुख्य वित्तीय अधिकारी श्रीकांत वेंकटचारी ने कहा कि हम अपने बहु-किश्त वाले लंबे समय के यूएसडी बॉन्ड जारी करने के मजबूत परिणाम से बेहद खुश हैं, 4 बिलियन अमरीकी डालर का सबसे बड़ा ऋण पूंजी बाजार लेनदेन जारी किया है।

Assembly Elections: उत्तर प्रदेश में अकेल चुनाव लड़ेगी जद(यू), गठबंधन पर भाजपा से नहीं मिला कोई जवाब     |     Assembly Elections: भारतीय किसान यूनियन ने SP-RLD गठबंधन को दिया समर्थन, जानें क्या बोले राकेश टिकैत?     |     ग्रेजुएशन पास वालों के लिए यहां निकली हैं बंपर भर्तियां, अप्लाई करने से पहले पढ़ लें यह खबर     |     5.6 इंच की डिस्प्ले के साथ Apple ला सकती है iPhone SE 3, लीक हुई तस्वीर     |     Gold के प्रति भारतीयों का बढ़ा आकर्षण, 9 महीने में सोने का आयात हुआ दोगुना     |     भ्रष्टाचार मामले को लेकर समझौता याचिका पर बातचीत कर रहे नेतन्याहू     |     विराट कोहली के टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने पर पूर्व बल्लेबाज कैफ ने कही ये बड़ी बात     |     पिंक और ब्लू शरारा सूट में सपना चौधरी ने बिखेरा खूबसूरती का जलवा, कैमरे के सामने झूमकर यूं दिए पोज     |     दूर होगा होंठों के आसपास का कालापन, घर पर यूं बनाएं Beetroot Serum     |     ग्वालियर में जीनोम सीक्वेंसिंग सैंपल की जांच की सुविधा नहीं     |    

SMTV
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088