हेडलाइंस
इंदौर अपार्टमेंट में चल रहे ‘सेक्स रैकेट’ का पर्दाफाश Thursday Ka Rashifal: आज मनोरंजन का मिलेगा मौका, वाणी पर रखें संयम, पढ़ें अपना राशिफल योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय, इतिहास | Yogi Adityanath Biography in Hindi कपिल शर्मा का जीवन परिचय एवं शो की जानकारी | Kapil Sharma Biography in hindi जेलों में अब नवविवाहिता संग समय बिता सकेंगे कैदी, रखना होगा इन बातों का ध्यान दरिंदगी की हद! मेले से लौट रही किशोरी को अगवा कर किया गैंगरेप, फिर निर्वस्त्र दौड़ाया हंसते-हंसाते सबको रुला गए गजोधर भइया: नहीं रहे काॅमेडियन राजू श्रीवास्तव 41 दिन की लंबी लड़ाई हार गए एक्टर अंकिता लोखंडे (बायोग्राफी) जीवन परिचय |Ankita Lokhande Biography In Hindi Indira Ekadashi Vrat 2022: आज है इंदिरा एकादशी व्रत, जानें मुहूर्त, व्रत और पूजा की सही विधि Wednesday Ka Rashifal: आज दांपत्य जीवन में मिलेगा सुख, आर्थिक लाभ का बन रहा योग, पढ़ें अपना राशिफल

ममता सरकार को लगा झटका, BJP नेता शुभेंदु अधिकारी को मिलती रहेगी गिरफ्तारी से सुरक्षा

हालांकि अदालती सुनवाई के दौरान पश्चिम बंगाल सरकार ने अधिकारी के आरोपों से इनकार दिया था।

उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को पश्चिम बंगाल सरकार की उस याचिका को सुनने से इनकार कर दिया जिसमें विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की गिरफ्तारी पर कलकत्ता उच्च न्यायालय के रोक के आदेश को चुनौती दी गई थी। न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति ए.एस. बोपन्ना की पीठ ने कहा कि उनके द्वारा कलकत्ता उच्च न्यायालय की एकल पीठ के फैसले के खिलाफ पिछले साल 13 दिसंबर के आदेश इस मामले में मान्य होंगे। शीर्ष अदालत की पीठ ने 13 दिसंबर को उच्च न्यायालय के प्रथम द्दष्टया राय को उचित मानते हुए इस मामले के गुण-दोषों पर विचार करने से इनकार कर दिया था।

भारतीय जनता पार्टी के नेता अधिकारी पर गुंडागर्दी, कोविड दिशा-निर्देशों की धज्जियां उड़ाने और अवैध रूप से भीड़ इकट्ठा करने के आरोपों में पश्चिम बंगाल के विभिन्न थानों में कम से कम छह मामले दर्ज हैं।  अधिकारी ने उन मुकदमों के खिलाफ कलकत्ता उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। अपना पक्ष रखते हुए उन्होंने दलील दी थी कि दिसम्बर- 2020 में तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में आने के कारण उन्हें झूठे आपराधिक मामलों में फंसाया गया। पश्चिम बंगाल कि ममता बनर्जी सरकार सरकार ने कथित तौर पर राजनीतिक कारणों से पुलिस तंत्र का बेजा इस्तेमाल किया और उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गये।

हालांकि अदालती सुनवाई के दौरान पश्चिम बंगाल सरकार ने अधिकारी के आरोपों से इनकार दिया था। भाजपा नेता ने आरोप लगाया था कि उन्हें फंसाने के लिए ममता बनर्जी सरकार ने राजनीतिक द्वेष से सरकारी तंत्र का बेजा इस्तेमाल किया। राज्य के पूर्वी मेदिनीपुर जिले के ताकतवर नेता अधिकारी दिसंबर 2020 में तृणमूल कांग्रेस छोड़ने से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बेहद करीबी नेताओं में से एक थे, जिन्होंने विधानसभा चुनाव से पहले पाला बदलकर भाजपा में शामिल हुए थे। विधानसभा चुनाव में अधिकारी ने बनर्जी को पराजित किया था।

इंदौर अपार्टमेंट में चल रहे ‘सेक्स रैकेट’ का पर्दाफाश     |     Thursday Ka Rashifal: आज मनोरंजन का मिलेगा मौका, वाणी पर रखें संयम, पढ़ें अपना राशिफल     |     योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय, इतिहास | Yogi Adityanath Biography in Hindi     |     कपिल शर्मा का जीवन परिचय एवं शो की जानकारी | Kapil Sharma Biography in hindi     |     जेलों में अब नवविवाहिता संग समय बिता सकेंगे कैदी, रखना होगा इन बातों का ध्यान     |     दरिंदगी की हद! मेले से लौट रही किशोरी को अगवा कर किया गैंगरेप, फिर निर्वस्त्र दौड़ाया     |     हंसते-हंसाते सबको रुला गए गजोधर भइया: नहीं रहे काॅमेडियन राजू श्रीवास्तव 41 दिन की लंबी लड़ाई हार गए एक्टर     |     अंकिता लोखंडे (बायोग्राफी) जीवन परिचय |Ankita Lokhande Biography In Hindi     |     Indira Ekadashi Vrat 2022: आज है इंदिरा एकादशी व्रत, जानें मुहूर्त, व्रत और पूजा की सही विधि     |     Wednesday Ka Rashifal: आज दांपत्य जीवन में मिलेगा सुख, आर्थिक लाभ का बन रहा योग, पढ़ें अपना राशिफल     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088