SMTV India
Local & National Breaking News

सिद्धू के रणनीतिक सलाहकार मुस्तफा की धमकी, हिंदुओं को जलसे की इजाजत दी तो गंभीर हालात पैदा कर दूंगा

वायरल हुए वीडियो को लेकर भाजपा नेताओं ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है

9

 चंडीगढ़/संगरूर। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्य रणनीतिक सलाहकार और मालेरकोटला से कांग्रेस उम्मीदवार व कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना के पति पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा के धमकी भरे लहजे में आपत्तिजनक बयान से पंजाब में राजनीतिक पारा चढ़ गया है। अपनी पत्नी के पक्ष में मालेरकोटला (संगरूर) में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुस्तफा का एक वीडियो वायरल हुआ है

वायरल हुए वीडियो को लेकर भाजपा नेताओं ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि मुस्तफा जिला व पुलिस प्रशासन को धमकी दे रहे हैं कि उनके (मुस्तफा) जलसे (जनसभा) के समीप हिंदुओं को चुनावी जलसा करने की इजाजत दी गई तो वह ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि संभालने मुश्किल हो जाएंगे। भाजयुमो के प्रदेश उपाध्यक्ष एडवोकेट अशोक सरीन हिक्की ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत कर मुस्तफा के खिलाफ केस दर्ज करने और उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाने की मांग की है।

केंद्रीय मंत्री और भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट पर मोहम्मद मुस्तफा का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि वह घर में घुसकर मारने की बात कहते हैं। सभा न होने देने की धमकी देते हैं। कांग्रेस ने पंजाब में हिंदुओं के खिलाफ कैसा वातावरण बना रखा है, इस वीडियो से स्पष्ट हो जाता है। सबको समझ आ जाएगा कि क्यों सिद्धू साहब पाकिस्तान जाकर इमरान खान से गले मिलते हैं। मुस्तफा वोट नहीं, कौम के लिए लड़ने की बात कहते हुए हिंदुओं को चैलेंज करते हैं। यही वो नफरत है, जिसे खत्म करने के लिए भाजपा पंजाब के चुनावी रण में सबको साथ लेकर चलने की अवधारणा रखते हुए उतरी है।

शेखावत ने लिखा कि पंजाबियत को सुरक्षित रखना है तो कांग्रेस की छत्रछाया में पनप रहे मोहम्मद मुस्तफा जैसे लोगों को मुख्यधारा से बाहर करना होगा। ये लोग देश के अंदर ही धार्मिक लड़ाई लड़ हिंदुओं को निशाना बना भारत की अखंडता को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं।आपत्तिजनक भाषा के साथ ही यहां कोविड-19 के प्रोटोकाल का भी पालन नहीं हो रहा। चुनाव आयोग को इसका संज्ञान लेना चाहिए।

भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता शाजिया इल्मी ने कहा कि मुस्तफा का बयान मुस्लिमों को भड़काने वाला है। यह जानबूझकर सौहार्द को भड़काने की कोशिश वाली कार्यवाही है। इस तरह हिंदुओं को डराकर वोट लिए जाएंगे। क्या यह कांग्रेस की धर्म निरपेक्षता है? शाजिया ने कहा कि यह बर्दाश्त के काबिल नहीं है। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और नवजोत सिद्धू को इसका जवाब देना पड़ेगा। शाजिया ने कहा कि हम चुनाव आयोग से मुस्तफा की पत्नी का टिकट रद करने की मांग करेंगे। भाजपा के प्रदेश महासचिव सुभाष शर्मा ने भी कहा कि हिंदू भाईचारे के बारे में इस तरह घृणा वाली भाषा का इस्तेमाल करना बर्दाश्त के काबिल नहीं है। यह हिंदुओ और मुस्लिमों को बांटने वाली भाषा है।

क्या है वीडियो में

गजेंद्र शेखावत की ओर से ट्वीट पर शेयर की गई वीडियो में मोहम्मद मुस्तफा यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि अगर मेरे जलसे के बराबर हिंदुओं को इजाजत दी गई तो मैं ऐसे हालात पैदा कर दूंगा कि संभालने मुश्किल हो जाएंगे। मैं अल्लाह की कसम खाके कहता हूं कि इनका कोई जलसा नहीं होने दूंगा। मैं आरएसएस का एजेंट नहीं हूं जो डर के घर में बैठ जाऊंगा। अगर उन्होंने दोबारा ऐसी हरकत की तो खुदा की कसम इनके घर में घुसकर मारूंगा। मैं वोटों के लिए नहीं लड़ रहा, मैं कौम के लिए लड़ रहा हूं।

राहुल बताएं, पंजाब में कौन से हालात पैदा करना चाहते हैं : संबित पात्रा

भाजपा नेता संबित पात्रा ने सवाल किया कि राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी मोहम्मद मुस्तफा को मोहरा बनाकर पंजाब में कौन से हालात पैदा करना चाहते हैं? क्या पंजाब को कश्मीर बनाना चाहते हैं? फिर से बीती सदी के नौवें दशक जैसे हालात पैदा करना चाहते हैं? क्या पंजाब में सिर्फ एक विशेष कौम के लिए जलसे का अधिकार है?

मेरी चेतावनी को तोड़ मरोड़ कर पेश किया : मुस्तफा

मोहम्मद मुस्तफा ने कहा कि मैं किसी के घर चाय पीने गया था, विरोधी पार्टी के समर्थकों ने हमला किया। मैंने केवल यही कहा कि दोबारा ऐसी हरकत हुई तो यह ठीक नहीं होगा। प्रशासन को उसकी ड्यूटी याद दिलाई है। मैंने कहीं भी हिंदू शब्द का इस्तेमाल नहीं किया। मैं सभी धर्मों का सम्मान करने वाला हूं, कुछ ताकतें क्षेत्र का माहौल खराब करना चाहती हैं। मेरी चेतावनी को तरोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है।

SMTV India