SMTV India
Local & National Breaking News

एमपी पुलिस का बर्बर चेहरा, शख्स की बीच सड़क पर लात-घूसों से की पिटाई

जिले के पपौन्ध थाना क्षेत्र के ग्राम ओदरी के रहने वाले सत्येन्द्र कुमार द्विवेदी गेंहू लेकर खरीदी केंद्र जा रहे थे

6

शहडोल: जहां एक ओर लोग इस कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं। कई तरह की परेशानियों से रोजाना दो चार होना पड़ रहा है। तो वहीं दूसरी ओर शहडोल जिले के अंतिम छोर स्थित पपौन्ध थाना क्षेत्र में एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है। जिसमें पुलिसकर्मी द्वारा एक ग्रामीण को बेवजह लात घुसों से जानवरों की तरह मारते हुए गमछा से गला दबाकर मारने का एक वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें साफ तौर पर पीड़ित पुलिस की बर्बरता से मदद की गुहार लगाता नजर आ रहा है, और वहां मौजूद लोग मूक दर्शक बने इस नजारे को अपने मोबाइल कैमरे में कैद करने में लगे रहे। वहीं पीडित पुलिस की इस बर्बरता की शिकायत करके सैकड़ों किलोमीटर का सफर तय कर एसपी कार्यालय पहुंच न्याय की गुहार लगा रहा है।

जिले के पपौन्ध थाना क्षेत्र के ग्राम ओदरी के रहने वाले सत्येन्द्र कुमार द्विवेदी गेंहू लेकर खरीदी केंद्र जा रहे थे, साथ ही उनकी भैंस भी बीमार थी। जिसके लिये वे दवा लेने जा रहे थे। इसी दौरान पपौन्ध थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक जीवन ने इस लॉकडाउन में घूमने का कारण पूछते हुए उनके ऊपर हमला कर दिया और जमीन में पटक कर जानवरों की तरह लात, घुसों से मारने लगा, इतना ही नहीं पुलिसकर्मी जीवन ने गमछा से गला दबाकर मारने का प्रयास किया, इस बीच पीड़ित मदद की गुहार लगता रहा, लेकिन किसी ने उसे बचाने की जहमत नहीं की बल्कि उल्टा वहां मौजूद लोग इस नजारे को अपने मोबाइल कैमरे में कैद करने में लगे रहे, जो अब सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रही है।  वायरल वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि पुलिसकंर्मी किस तरह से ग्रामीण को मार रहा है। आपको बता दें कि इस घटना के बाद पपौन्ध पुलिस ने सत्येन्द्र के खिलाफ 151 के तहत कार्यवाही भी की है।

वहीं इस घटना के बाद पीड़ित सत्येन्द्र ने सैकड़ों किलोमीटर का सफर तय कर एसपी कार्यालय शहडोल पहुंचा। जहां उसने अपनी आप बीती सुनाई और अब मदद की गुहार लगा कर दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहा है। वहीं इस पूरे मामले में पुलिस का कहना है कि सत्येन्द्र लॉकड़ाउन का उल्लंघन कर रहा था। पुलिस के मना करने पर बद्तमीजी करने लगा था, जिसके खिलाफ 151 की कार्रवाई की गई है।  वहीं सत्येन्द्र  के खिलाफ भी दर्जनों मामले दर्ज हैं।

SMTV India