हेडलाइंस
गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार चिंतन शिविर में बोले राहुल गांधी, जनता के साथ टूटा कांग्रेस का संपर्क...उसे फिर से जोड़ना होगा केरल ट्वंटी20 पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी‘आप’, अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान मेष, मिथुन और धनु राशि वाले रहें सावधान, 12 राशियों का जानें आज का राशिफल

कल से खुलेेंगे केदारनाथ धाम के कपाट, इस साल यात्रियों को पहनने होंगे हैंडबैंड…जानिए क्यों

चारधाम के नाम से प्रसिद्ध-गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट (3 मई) को अक्षय तृतीया के अवसर पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए और इसी के साथ इस साल की चारधाम यात्रा का आरंभ हो गया।

चारधाम के नाम से प्रसिद्ध-गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट (3 मई) को अक्षय तृतीया के अवसर पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए और इसी के साथ इस साल की चारधाम यात्रा का आरंभ हो गया। वहीं दो अन्य धामों—केदारनाथ और बदरीनाथ के कपाट क्रमश: 6 मई और 8 मई को खुलेंगे।

पिछले दो साल से कोविड महामारी के कारण बाधित रही चारधाम यात्रा में रिकार्ड श्रद्धालुओं के आने की संभावना के मद्देनजर राज्य सरकार ने जहां प्रत्येक धाम में प्रतिदिन दर्शन करने के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या निर्धारित कर दी है। इसी के साथ ही इस बार केदारनाथ यात्रियों की सुविधा के लिए संख्यानुसार हैंडबैंड पहनाए जाएंगे। यह हैंडबैंड एक ही बार प्रयोग किया जा सकेगा जबकि यात्री दर्शन से पूर्व लाइन में खड़ा न होकर अन्य स्थानों पर घूमने के बाद दर्शन कर सकेगा।

यात्रा के लिए सभी तैयारियां पूरी
चारधामों के लिए पर्यटन विभाग के ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण के लिए उमड़ रही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के मद्देनजर राज्य सरकार ने धामों में प्रतिदिन दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की अधिकतम संख्या तय कर दी है। प्रदेश के संस्कृति और धर्मस्व सचिव हरिचंद्र सेमवाल द्वारा इस संबंध में जारी एक आदेश के अनुसार, बदरीनाथ में प्रतिदिन अधिकतम 15000 श्रद्धालु, केदारनाथ में 12000, गंगोत्री में 7000 और यमुनोत्री में 4000 तीर्थयात्री दर्शन कर सकेंगे ।

फिलहाल यह व्यवस्था शुरूआती 45 दिनों के लिए बनाई गयी है। यात्रियों को किसी तरह की कोई असुविधा न हो इसलिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लाने पर भी सरकार ने छूट दे दी है। हालांकि श्रद्धालुओं को मास्क पहनना होगा।

गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |     चिंतन शिविर में बोले राहुल गांधी, जनता के साथ टूटा कांग्रेस का संपर्क…उसे फिर से जोड़ना होगा     |     केरल ट्वंटी20 पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी‘आप’, अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान     |     मेष, मिथुन और धनु राशि वाले रहें सावधान, 12 राशियों का जानें आज का राशिफल     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088