SMTV India
Local & National Breaking News

ट्रेन में टॉयलेट करने गई थी लड़की, उसके बाद नहीं लौटी, फिर चार दिन बाद हुआ ये…

3

अनूपपुर: अब ट्रेन में भी बच्चियां सुरक्षित नहीं है। यकीन नहीं आता तो ये मामला सुनकर रह जाओगे हैरान। जी हां, अनूपपुर जिले के बिजुरी नगर के रहने वाली दिल दहला जाने वाला मामला सामने है। जहां बेटी सुप्रिया तिवारी की ट्रेन यात्रा के दौरान रहस्मय परिस्थितियों के दौरान गायब हो गई थी, उसकी लड़की का शव दाहोद जिले के पास रेल्वे ट्रेक के किनारे मिला है। परिजनों के मुताबिक़ ट्रेन में अहमदाबाद से अपनी बड़ी बहन से मुलाकात कर दो मार्च को वापस घर भोपाल ट्रेन से आ रहती थी। इस दौरान ट्रेन में युवती बाथरूम के लिए गई थी और दोबारा लौटकर नहीं आई, उसका पर्स और मोबाइल उसकी सीट पर ही पड़ा मिला। परिजनों ने संपर्क करने की कोशिश तो हो नहीं पाया। इसके बाद परिजनों ने परेशान होकर युवती के लापता होने की शिकायत थाने में करवाई।

परिजनों का आरोप है कि परिजनों ने सभी से मदद मांगी पर उनकी मदद किसी ने नहीं की गई, वो हर जगह जाकर गिड़गिड़ाते रहे पर सिस्टम के ढीले रवैये के शिकार हुए और उनके साथ सभी जिम्मेदारों ने बदतमीजी की। परिजन बेटी का अंतिम संस्कार कर अनुपपुर पहुंचे। जहां उन्होंने केबिनेट खाद्य मंत्री बिसाहुलाल सिंह से बात की पहले मंत्री ने जानकारी ना होने की बात कही बाद में उच्च स्तरीय जांच करवाने की बात कहकर मामले से पल्ला झाड़ दिया। कांग्रेस विधायक सुनील सराफ के नेतृत्व में जिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीबीआई जांच करवाने अनुपपूर जिले के एसपी को ज्ञापन दिया और ट्रेन में बेटियों की सुरक्षा पर सवाल उठाया

प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि करीब 35 फीट की ऊंचाई से गिरने के बाद लगी चोटों के कारण उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा। ट्रेन में हुई इस घटना का जिम्मेदार आखिर कौन? क्या अब लड़कियां ट्रेन में भी सुरक्षित नहीं है और रेलवे की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुलती नजर आ रही है। आज एक बच्ची अपने परिजनों से दूर चली गई आखिर इस घटना का दोषी कौन? और परिजनों का कहना है हमको सीबीआई जांच करवानी है लेकिन हमारी कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है।

SMTV India