हेडलाइंस
J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित...पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण' का खतरा: आरबीआई अधिकारी पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार

मोटी सैलरी पाने वालों को लगा झटका, सालाना 2.5 लाख से अधिक PF योगदान है तो ब्याज पर लगेगा टैक्स

नई दिल्ली। मोटा वेतन पाने वाले और पीएफ में अधिक पैसा जमा कराने वाले लोगों को बजट से झटका लगा है। बजट 2021-22 में पीएफ (PF) में सालाना एक सीमा से ऊपर राशि पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगाने का प्रस्ताव रखा गया है। बजट में कहा गया कि उच्च आय पाने वाले कर्मचारियों द्वारा अर्जित आय के लिए टैक्स छूट को तर्कसंगत बनाने की दिशा में विभिन्न प्रोविडेंट फंड्स में 2.5 लाख रुपये से अधिक के सालाना योगदान पर अर्जित ब्याज पर कर छूट को प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव रखा गया है। यह प्रतिबंध एक अप्रैल 2021 को या इसके बाद के योगदान के लिए लागू होगा।

इस प्रस्ताव के अनुसार, अब कर्मचारी के सालाना पीएफ योगदान में 2.5 लाख से अधिक की राशि पर अर्जित ब्याज पर टैक्स लगेगा। टैक्स और निवेश एक्सपर्ट बलवंत जैन ने बताया कि इससे मोटा वेतन पाने वाले लोगों को नुकसान होगा। उन्होंने बताया कि अगर कोई कर्मचारी का साल भर का पीएफ योगदान 3 लाख रुपये होता है तो उसकी 50 हजार रुपये की अतिरिक्त पीएफ राशि पर मिलने वाले ब्जाय पर टैक्स लगेगा।

जैन ने बताया कि इस समय पीएफ राशि पर मिलने वाला ब्याज पूरी तरह टैक्स फ्री है और कोई भी अपनी पीएफ राशि पर मिलने वाले ब्याज को नहीं बताता, लेकिन इस प्रस्ताव के लागू होने के बाद कर्मचारी को अपने आयकर रिटर्न में साल भर के 2.5 लाख से अधिक के पीएफ योगदान पर मिलने वाले ब्याज को बताना पड़ेगा।

यहां आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब सरकार ने पीएफ मनी पर टैक्स लगाने का प्रस्ताव रखा है। साल 2016 के बजट में भी इस तरह का प्रस्ताव लाया गया था। उस बजट में EPF की 60 फीसद राशि पर अर्जित ब्याज को टैक्स के दायरे में लाने का प्रस्ताव था। हालांकि, इस प्रस्ताव के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध होने लगा, तो इसे वापस ले लिया गया।

J&K: सामने आया कुलगाम में बैंक कर्मचारी की हत्या का CCTV, नकाबपोश ने बेखौफ चलाई गोली     |     सोनिया गांधी कोरोना पॉजिटिव, कई कांग्रेस नेता भी संक्रमित…पिछले दिनों बैठकों में हुईं थीं शामिल     |     बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल, भगवा टोपी पहने आए नजर     |     गैरी कर्स्टन ने की ऋद्धिमान साहा की तारीफ, कहा- वह हमारे लिए अहम खिलाड़ी     |     Cryptocurrency से अर्थव्यवस्था के एक हिस्से के ‘डॉलरीकरण’ का खतरा: आरबीआई अधिकारी     |     पाकिस्तान में आसमान बरसा रहा आग‍ ! पारा 51 डिग्री के पार, लोगों को बेवजह बाहर न निकलने की सलाह     |     पाकिस्तान के वजीरिस्तान में आत्मघाती हमले में तीन बच्चों समेत 6 लोगों की मौत     |     पत्रकार गणेश तिवारी आत्महत्या मामला में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR     |     राघौगढ़ किले से नहीं भाजपा नेताओं से जुड़े है गुना हत्याकांड के तार, फोटो सहित प्रूफ दिए हैं- जयवर्धन सिंह     |     दिल्ली में भीषण गर्मी और लू का कहर, कई इलाकों में पारा 49 डिग्री सेल्सियस के पार     |    

SMTV India
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088