SMTV India
Local & National Breaking News

Woman Molesting- आबकारी विभाग में महिला के साथ अधिकारी ने की छेड़छाड़, लगातार छेड़छाड़ से परेशान युवती ने लगाई इंसाफ के लिए गुहार

इंदौर में आबकारी विभाग में पदस्थ एक महिला कर्मचारी ने अपने ही विभाग के अधिकारी कल्याण सिंह अलाव के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया है।

11

इंदौर: जहां महिलाओं के सम्मान के लिए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को सख्त लहजे में कहा कि नारी का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं आर्थिक राजधानी इंदौर में आबकारी विभाग में पदस्थ महिला कर्मचारी से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। महिला की पीड़ा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वह अपने खिलाफ हो रही इस ज्यादती से बचने के लिए नौकरी तक छोड़ने को तैयार है।

हाल ही में इंदौर में आबकारी विभाग में पदस्थ एक महिला कर्मचारी ने अपने ही विभाग के अधिकारी कल्याण सिंह अलाव के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया है। जिसमें विजय नगर पुलिस जांच कर कार्रवाई कर रही है । महिला कर्मचारी का आरोप है कि आरोपी अफसर उन पर संबंध बनाने के लिए लगातार दबाव बना रहा था। साथ ही उनके साथ छेड़छाड़ भी की। जब उन्होंने विरोध किया तो आरोपी ने उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया। यहां तक कि जहां पुरुषों को ड्यूटी पर भेजना था, वहां उन्हें भेजा बेवजह उनका ट्रांसफर किया, प्रमोशन लिस्ट से नाम हटवा दिया।

महिला ने अफसर की इन हरकत से परेशान होकर पीड़ित महिला ने बिना वेतन की छुट्टी ले ली, ताकि आरोपी से पीछा छूट सके। इसके बाद नौकरी छोड़ने के लिए आवेदन दिया। आरोपी अफसर उन्हें नौकरी भी छोड़ने नहीं दे रहा था। वही अपनी मांग मनवाने के लिए दबाव बना रहा था। उन्हें धमकी दी कि नौकरी छोड़ने भी नहीं देगा, मांग नहीं मानी तो बर्खास्त भी करवा देगा। महिला ने दफ्तर में अपने आवेदन के बारे में जानकारी निकाली तो पता चला कि आरोपी ने कागजात रोक दिए हैं।

विजयनगर थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि महिला कर्मचारी ने प्रकरण दर्ज कराया है पुलिस मामले की जांच कर कार्रवाई करेगी। वही अब देखना यह होगा कि जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो पीड़ित को इंसाफ कहां से मिलेगा अगर महिलाएं शासकीय विभागों में भी इस तरह से अपने अफसरों से प्रताड़ित हुई तो कैसे चलेगा। साथ ही इस मामले में महिला ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से भी न्याय की गुहार लगाई है । हालांकि पूरे मामले में आबकारी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है।

SMTV India